EverythingForCity.com  
Login Register
Login Register
Home | Entertainment | Our India | India Yellow Pages | Tools | Contact Us
Shayari | Quiz | SMS | Tongue Twister | Poem | Fact | Jokes
 
 
 
 
 
Home –› Entertainment –› Shayari –›Love Shayari
» Love Shayari
तुम ख्वाब सजाए बैठी हो

तुम बहुत से ख़्वाब निगाहों में सजाये बैठी हो
मैंने हजारों अरमान दिल में पाल रखें हैं ,
एक मंज़र की चाहत तेरे वजूद को है मुझसे ,
मैंने कुछ सपने तेरे नाम के संभाल रखे हैं ।


तुम को यकीं तो है मगर एक डर भी है की
तेरे सपने कहीं मेरी आंखों से टूट न जाएँ
तेरी ज़िन्दगी का सहारा हैं जो खूबसूरत लम्हें
अचानक वो कहीं तुझसे मुझसे रूठ ना जाएँ । ।

Submitted By: Shiv Charan on 04 -Apr-2015 | View: 1897

Help in transliteration

 
Related shayari:
Browse Shayari By Category
 
 
 
Menu Left corner bottom Menu right corner bottom
 
Menu Left corner Find us On Facebook Menu right corner
Menu Left corner bottom Menu right corner bottom