EverythingForCity.com  
Login Register
Login Register
Home | Entertainment | Our India | India Yellow Pages | Tools | Contact Us
Shayari | Quiz | SMS | Tongue Twister | Poem | Fact | Jokes
 
 
 
 
 
Home –› Entertainment –› Shayari –›Love Shayari
» Love Shayari
हमारे दरमियान...

ता नहीं हमारे दरमियान यह कौन सा रिश्ता है,
लगता है कि सालों पुराना अधूरा कोई किस्सा है।
-------------------------------------------
तुम्हारे साथ आजकल यूँ हर जगह रहता हूँ मैं,
हद से ज्यादा सोचूं तुम्हें बस यहीं सोचता हूँ मैं।
-------------------------------------------
तुम्हारी तस्वीरों में मुझे अपना साया दिखता है,
महसूस करता है जो यह मन वहीं तो लिखता है।
-------------------------------------------
तुम्हारी आवाज़ सुनने को हर पल बेक़रार रहता हूँ,
नहीं करूँगा याद तुम्हें मैं खुद से हर बार कहता हूँ।
-------------------------------------------
नाराज़ ना होना कभी बस यहीं एक गुज़ारिश है,
महकी हुई इन साँसों की साँसों से सिफ़ारिश है।
-------------------------------------------
बदल जाए चाहे सारा जग पर ना बदलना तुम कभी,
ख़्वाबों के खुशनुमा शहर में मिलने आना तुम कभी।

Submitted By: shiv on 22 -Feb-2017 | View: 157

Help in transliteration

 
Related shayari:
Browse Shayari By Category
 
 
 
Menu Left corner bottom Menu right corner bottom
 
Menu Left corner Find us On Facebook Menu right corner
Menu Left corner bottom Menu right corner bottom