EverythingForCity.com  
Login Register
Login Register
Home | Entertainment | Our India | India Yellow Pages | Tools | Contact Us
Shayari | Quiz | SMS | Tongue Twister | Poem | Fact | Jokes
 
 
 
 
 
Home –› Entertainment –› Poem –›Life Poem
» Life Poem
तो क्या करोगे...?

जंग के लिए तैयार है हर इंसान
पर तीर ही रिश्वत मांगे, तो क्या करोगे...?
.
मानता हूँ पहचान है तुम्हारी हर परीँदे से
लेकीन तुमको ही उडना पडे, तो क्या करोगे...?
.
महज हवा से लौ तुम्हारी डगमगा उठी
संदेशा तुफान का आएगा, तो क्या करोगे...?
.
दौडती जिंदगी मे समय का हिसाब भी रखा करो
वक्त ने किश्ते लागू किए, तो क्या करोगे...?
.
तनख्वाह इतनी नहीँ की खरीद सके हर सुख
पर खुशियाँ ही महंगी हुई, तो क्या करोगे...?
.
जिँदगी के मेहमान को यु कोस रहे हो
मौत का फरीश्ता आएगा, तो क्या करोगे...?
.
वैभव...

Submitted By: Vaibhav on 08 -Sep-2013 | View: 2805

Help in transliteration

 
Related poem:
Browse Poem By Category
 
 
 
Menu Left corner bottom Menu right corner bottom
 
Menu Left corner Find us On Facebook Menu right corner
Menu Left corner bottom Menu right corner bottom